महिलाओं के लिए संचालित योजनाओं का लाभ उन्हें अवश्य मिलेःविजया बडथ्वाल 

संजीव शर्मा, हरिद्वारः उत्तराखण्ड राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष विजया बडथ्वाल ने जिलाधिकारी कार्यालय रोशनाबाद में जनपद के अधिकारियों के साथ महिलाओं के विरूद्व समाज में होने वाली हिंसा एवं उत्पीडन की रोकथाम एवं महिलाओं के लिए विभिन्न विभागों द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा की।


विजया बडथ्वाल ने निर्देश दिये कि सभी अधिकारी सुनिश्चित कर लें कि भारत सरकार द्वारा संचालित तथा राज्य सरकार द्वारा संचालित जितनी भी योजनाएं है उनका कितना लाभ महिलाओं को मिल रहा है और इन योजनाओं से ज्यादा से ज्यादा महिलाएं लाभान्वित हो उसके लिए कितने प्रयास किये गये। चिकित्सा विभाग से जानकारी लेते हुये उनके विभाग में चल रही महिला सम्मान दिवस, जननी सुरक्षा योजना योजन आदि योजनाओं की विस्तार से जानकारी प्राप्त की। 



अध्यक्ष ने निर्देश दिये कि कितनी महिलाएं स्वास्थ्य केन्दों में आयी और कितनी महिलाओं लाभान्वित हुई और अधिक से अधिक लाभ महिलाओं को मिले इसके लिए आपकी क्या योजना है पूरा व्योरा चार्ट बनाकर उपलब्ध कराये। समाज कल्याण विभाग की जानकारी लेते हुये निर्देश दिये कि जनपद मे जितने महिला शरणालय एवं एनजीओ चल रहे है उनको पंजीकरण अवश्य कराये और समय समय पर उनका निरीक्षण करें।

समाज कल्याण अधिकारी द्वारा उनके विभाग में चल रही पेंशन, आदि योजनाओं बारे मे विस्तार से बताया। अध्यक्ष द्वारा विधवा की पुत्री की शादी में जो धनराशी दी जाती है उसमें क्या लाभ महिलाओं को दे रहे है इस पर समाज कल्याण अधिकारी द्वारा अवगत कराया कि विधवा की पुत्री की शादी होने पर ही यह धनराशि दी जाती है। इस पर संज्ञान लेते हुये अध्यक्ष ने कहा कि शादी से पहले यह धनराशि दी जाती है उसका संबंधित को क्या लाभ मिलेगा यह धनराशि शादी से पहले दी जानी चाहिये। इसके लिए शासन स्तर पर वार्ता की जायेगी।

पुलिस विभाग को निर्देश देते हुये अध्यक्षा  ने कहा कि अक्सर पुलिस विभाग से यह शिकायत मिलती है कि महिलाओ की एफआईआर समय से नही लिखी जाती और उनके साथ सही व्यवहार भी नही किया जाता और पुलिस का सहयोग नही मिलता।  इसमें सुधार लाया जाए और सुनिश्चित कर लिया जाऐ कि कितनी शिकायते आयी कितनी शिकायतों का समाधान किया गया। उसका पूरा व्योरा उपलब्ध कराये। उद्योग विभाग को निर्देश देते हुये कहा कि महिलाओं की उद्योगो में भागीदारी होना अति आवश्यक है जिससे महिलाए भी उद्यमी बने।

बैठक मे एसीएमओं एचडी शाक्य, जिला कार्यक्रम अधिकारी मुकुल चैधरी,एपीसीटी कमलेश उपाध्याय,जिला समाज कल्याण अधिकारी पी.आर मलिठा,महाप्रबन्धक जिला उद्योग केन्द्र अजंनी रावत नेगी, सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।