अल्मोड़ाः महिलाओं से अपने अधिकारो के प्रति जागरूक रहने की अपील

अल्मोड़ाः ‘‘यत्र नार्यस्तु पूज्यते रमतें तत्र देवता‘‘ जहाॅ नारियो की पूजा होती है वही देवता निवास करते है यह बात जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने आज अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस से पूर्व रैमजे इण्टर कालेज में महिला कल्याण एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कही।


उन्होंने कहा कि ‘‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ‘‘ कार्यक्रम बालिकाओं को सशक्त बनाने एवं उन्हें सम्मान दिलाने और अवसरों में वृद्वि करने का प्रयास करता है। उन्होंने कहा कि बेटियां आज प्रत्येक क्षेत्र में देश एवं प्रदेश का नाम रोशन कर रही हैं। उन्होंने कहा कि हमें अपने परिवार में बेटे और बेटी को एक समान रूप से आगे बढ़ने के अवसर प्रदान करने चाहिए। उन्होंने महिलाओं को अपने अधिकारो के प्रति जागरूक रहने की अपील की।
इस कार्यक्रम में मुख्य विकास अधिकारी मनुज गोयल ने कहा कि बेटियां समाज की मुख्य धारा में जुड़ सकें इसके लिए उन्हें समान अवसर प्रदान किये जाने चाहिए। बेटियों के मान सम्मान एवं उनकी शिक्षा एवं रोजगार के लिए हमें सभी प्रयत्न करना चाहिए। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि महिलायें आज विभिन्न उच्च पदो पर देश व विदेश में आसीन है। जनपद में भी कई मुख्य पदो पर महिलायें जनपद का प्रतिनिधित्व कर रही है जो हमारे लिए गौरव की बात है।
कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली जनपद की 16 महिलाओंध्बालिकाओं को स्मृति चिन्ह् व प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। जिन महिलाओंध्बालिकाओं ने अपने-अपने क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य किया है उनमें सम्मानित होने वाली डा0 सविता हयांकी मुख्य चिकित्साधिकारी, डा0 हेमा तिवारी महिला चिकित्सालय, धनी शाही सामाजिक कार्यकर्ता, सुनीता तिवारी आंगनबाड़ी कार्यकत्री बिमौला, विद्या कर्नाटक व नीलम नेगी शिक्षा विभाग, स्नेहा रजवार नेशनल बैडमिन्टन खिलाड़ी, बसुधा पंत सामाजिक कार्यकत्री, आशा डिसूजा ग्रीन हिल्स ट्रस्ट, मंजू उपाध्याय बाल गृह अधीक्षिका, बसुधा अग्निहोत्री जी0बी0 पंत पर्यावरण संस्थान में वैज्ञानिक, माला तिवारी प्रधानाचार्य केन्द्रीय विद्यालय, किरण राणा कृषि विभाग, पूजा बधानी लोनिवि में इंजीनियर, बबीता बोरा, प्रीति भण्डारी हैं।