बीइंग भगीरथ: पेड़ पौधों के बीच रहने व साफ सफाई रखने से दूर होगा कोरोना वाइरस
संजीव शर्मा, हरिद्वारः बीइंग भगीरथ टीम के स्वयंसेवियों ने कनखल स्थित गंगा वाटिका में साफ सफाई व पौधारोपण कर कोरोना उन्मूलन का संदेश दिया। संस्थापक शिखर पालीवाल ने बताया कि वृहद स्तर से गंगा वाटिका में पंच पल्लव पौधारोपण किया गया है। नीम पीपल पान पौधों के संरक्षण व संवर्द्धन में टीम पूरी निष्ठा के साथ अपने कार्यो को अंजाम दे रही है। 

वाटिका को हरा भरा बनाने के प्रयास वृहद स्तर से किए जा रहे हैं।

शिखर पालीवाल ने लोगों से आह्वान किया कि अधिक से अधिक पौधारोपण कर प्रदूषण को नियंत्रित करने और कोरोना को जड़ से खघ्त्म करने में सहयोग करें। पर्यावरण को संरक्षित करने का सबसे अच्छा उपाय पौधारोपण है। साथ ही स्वच्छता बनाए रखने से कोरोना वाइरस का प्रभाव भी कम किया जा सकता है ।

पौधारोपण अभियान संयोजक मधु भाटिया व जनक सहगल ने कहा हमारा कर्तव्य बनता है कि अपने आसपास के वातावरण को शुद्ध व हरा भरा बनाएं। गंगा वाटिका आदर्श वाटिका का रूप बन गयी है। उन्होंने कहा हरित वातावरण में रहने से कोई बीमारी कोई वाइरस प्रभावित नहीं करता ।

अमित जनगिड व अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि प्रत्येक रविवार को टीम के सभी सदस्य फैली गंदगी को एकत्र कर पौधों का संरक्षण कर रहे हैं। पौधे हमारे जीवन पर आ रहे संकट को दूर करने का सबसे अच्छा माध्यम है। शुद्ध हवा पेड़ों से ही मनुष्य को प्राप्त होती है। पेड़ों का संरक्षण करना सभी की जिम्मेदारी है।

योग विंग समनव्यक रुचिता उपाध्यायने कहा कि लगातार गंगा वाटिका में पंच पल्लव पौधे लगाए गए हैं। पंच पल्लव पौधे व्यक्ति को कष्टों से दूर करते हैं उनका संरक्षण टीम के सदस्य निस्वार्थ सेवाभाव करते चले आ रहे हैं। गंगा सफाई अभियान के साथ साथ पौधारोपण को भी बढ़ावा देने की आवश्यकता है। जनजागरूकता से ही ऐसे फैलने वाले वाइरस से निजात पाई जा सकती है।  इस अवसर पर आदित्य भाटिया, सपना, संदीप खन्ना, तन्मय, दिव्यांशु शर्मा, नीरज शर्मा,अनिकेत, शिवंश, विपिन सेनी, सुशांत आदि शामिल रहे।