देहरादूनः दस बजे के बाद पसरा सन्नाटा 
नवल टाइम्सः लॉकडाउन का मंगलवार को प्रदेशभर में खासा असर देखने को मिला। सुबह 7 बजे से 10 बजे तक खरीदारी करने के बाद लोगों ने लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया।

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून समेत पर्वतों की रानी मसूरी, ऋषिकेश, हरिद्वार, नैनीताल, हल्द्वानी, रुद्रपुर, काशीपुर, बाजपुर, उत्तरकाशी, पौड़ी, चमोली आदि शहरों में लोग 10 बजते ही अपने अपने घरों में चले गए।

लोगों ने सब्जियां, फल, राशन समेत जरूरी सामान खरीदे। सड़कों पर बेवजह घूम रहे लोगों को पुलिस ने फटकार लगाकर वापस घर भेज दिया। किसी को सड़क पर बेवजह घुमने की इज्जात नहीं दी जा रही थी।

प्रदेश के विभिन्न शहरों में दवा की दुकान को छोड़कर सभी दुकानों को 10 बजते ही बंद कर दिया। गली-मोहल्लों में खुली दुकानों को भी पुलिस ने बंद करा दिया। सुबह सात बजने के साथ ही बैंक सेवांए भी लोगों के लिए खुल गई। क्षेत्र में एटीएम सेवा भी खुली रही। लेकिन 3 घंटों के दौरान बैंकों और एटीएम पर अधिक भीड़ नहीं देखी गई।

पर्वतों की रानी, मसूरी में सुबह 9 बजे करीब बाजार में राशन सब्जी की दुकान पर लोगों की भीड़ देखी गइ। माल रोड पर भी दुपहिया वाहन दौड़ते हुए नजर आए। काफी संख्या में माल रोड पर लोगों की आवाजाही भी देखी जा रही है। पेट्रोल पंप पर लोगों की भीड़ नजर नहीं आई। गैस एजेंसी, राशन की दुकान और सब्जी की दुकान में ही सबसे ज्यादा भीड़ जुटी हुई है। किताब घर, पिक्चर पैलेस व लंढोर बाजार पूरी तरह से बंद रहा।

पुलिस चैक चैराहों पर मुस्तैद रही और बिना किसी वजह के माल रोड पर घूम रहे लोगों से घरों की ओर जाने का अनुरोध करती रही। कैमिस्टों की दुकानों में लोगों की भीड़ देखने को मिली। लोगों की भीड़ गैस गोदाम में भी जुटी रही। मसूरी में कैमिस्ट की दूकानों को छोड़कर पूरा मार्केट बंद रहा।

कई वाहन चालकों के बेवजह इधर-उधर आवागमन को लेकर चालान भी काटे गए। कुछ लोगों को वापस भी भेजा गया।