देहरादूनः ‘झण्डा मेला’ की तैयारियों को लेकर डीएम ने ली बैठक 

देहरादूनः  जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट कार्यालय में ‘झण्डा मेला’ को व्यवस्थित, शांतिपूर्ण और सुरक्षित तरीके से संपादित किये जाने के सम्बन्ध में प्रबन्धक दरबार साहिब के सदस्यों तथा स्वास्थ्य विभाग के साथ बैठक आयोजित की गयी।


जिलाधिकारी ने दरबार साहिब के सदस्यों को जिला प्रशासन की तरफ से भीड़ प्रबन्धन, सुरक्षा, यातायात प्रबन्धन तथा किसी भी प्रकार की आपात स्थिति होने पर उससे निपटने की हर संभव सहायता देने का आश्वासन दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि इस बार मेले में बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं की स्वास्थ्य जांच करने के लिए गुरू दरबार साहिब प्रबन्धन को भी अपनी तरफ से विशेष प्रयास करने की अपेक्षा करने के साथ ही लोगों को स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने के लिए जरूरी बातों का प्रचार-प्रसार करने की बात कही।


उन्होंने मेले वाले स्थान पर तथा अधिक भीड़भाड़ वाले क्षेत्र में यथासंभव थर्मल स्कैनर मशीन लगवाने, साबुन से हाथ धोने की व्यवस्था देखते हुए तथा किसी भी प्रकार के जुखाम इत्यादि से संक्रमित व्यक्ति को तत्काल उचित चिकित्सा-जांच कराने के मुख्य चिकित्साधिकारी और दरबार साहिब प्रबन्धन को आपसी समन्वय से कार्य करने को कहा।
जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस के जोखिम को देखते हुए सभी प्रकार की मेडिकल व चिकित्सा की व्यवस्था तैयार रखने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि हालांकि उत्तरखण्ड में कोरोना का कोई भी केस नही पाया गया है फिर भी अपनी तरफ से सभी तरह की तैयारी रखने की जरूरत है तथा इस सम्बन्ध में कोई भी व्यक्ति किसी भी माध्यम से यदि भ्रम फैलायें और स्थिति को अनावश्यक पैनिक बनाये, तो उसके विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जाय।


प्रबन्धक दरबार साहिब  व मेला अधिकारी ‘झण्डा मेला’ के.सी जुयाल ने अवगत कराया कि इस बार हमारी स्वयं की कोशिश रहे की भीड़ कम से कम हो और दरबार साहिब प्रबन्धक समिति अपनी ओर से भी भीड़ प्रबन्धन , स्वास्थ्य प्रिकाॅशन इत्यादि की व्यवस्था करेगा तथा जिला प्रशासन और चिकित्सा विभाग के साथ बेहतर व्यवस्थाएं सम्पादित करेगा। उन्हेांने कहा कि लोग कोरोना वायरस को लेकर अनावश्यक पैनिक ना हो इसके लिए अपने स्तर से भी हम प्रचार-प्रसार करंगे। उन्होंने कहा कि झण्डा मेला का मुख्य आयोजन 13 मार्च को सम्पादित होगा।