देहरादूनः वरिष्ठ महिला कार्यकर्ताओं को सम्मानित किया
देहरादूनः अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर उत्तराखण्ड प्रदेश कांगे्रस कार्यालय में प्रदेश महिला कांग्रेस के तत्वावधान में एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर महिला कार्यकर्ताओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों एवं कवि सम्मेलन के साथ-साथ अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम के दौरान महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने महानगर अध्यक्ष कमलेश रमन के नेतृत्व में वरिष्ठ महिला कार्यकर्ताओं को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने महिलाओं को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि महिलायें आज हर क्षेत्र में पुरूषों से आगे निकल चुकी हैं। 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिह ने कहा कि जहां एक ओर राजनैतिक क्षेत्र में देष का नेतृत्व कर चुकी स्व0 इन्दिरा गांधी, प्रतिभा सिंह पाटिल, सोनिया गांधी जैसी महिलाओं ने देश का गौरव बढाया वहीं पी.टी. ऊषा, मैरी काॅम, सायना नेहवाल, सानिया मिर्जा, जैसी खेल प्रतिभाओं ने विश्व में अपना परचम लहराया है तो भारतीय मूल की सुनीता विलियम्स और कल्पना चावला ने अंतरिक्ष पटल पर अपनी खास पहचान बनाई तथा सुरेखा यादव ने प्रथम महिला चालक के रूप में रेलगाडी चला कर भारतीय महिलाओं के गौरव को बढ़ाया।

कार्यक्रम में उपस्थित कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने सभी महिलाओं को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस की बधाई देते हुए कहा कि नारियों में अपरिमित षक्ति और क्षमतायें विद्यमान हैं। व्यवहारिक जगत के सभी क्षेत्रों में उन्होंने कीर्तिमान स्थापित किये हैं। अपने अद्भुत साहस, अथक परिश्रम तथा दूरदर्षी बुद्धिमता के आधार पर विश्व पटल पर अपनी पहचान बनाने में कामयाब रही हैं।

मानवीय संवेदना, करूणा, वात्सल्य जैसे भावों से परिपूर्ण अनेक नारियों ने युग निर्माण में अपना अहम योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि भारतीय समाज में नारी सदैव पूजनीय रही है तथा आज भी नारी का स्थान सबसे ऊंचा है। उत्तराखण्ड की देवभूमि में भी अनेक बीरांगना नारियों ने जन्म लिया है तथा समाज को एक नई दिशा देने का काम किया है।

उत्तराखण्ड आन्दोलन को अपने मुकाम तक पहुंचाने में मातृ षक्ति का महत्वपूर्ण योगदान सदैव अविस्मरणीय रहेगा। गौरा देवी, तीलू रौतेली जैसी बीरांगनाओं ने देवभूमि का मस्तक ऊंचा करने का काम किया है ऐसी नारी षक्ति को हम शत-शत नमन करते हैं।