गैरसैंणः सदन के बाहर होली, अंदर हंगामा
गैरसैंणः  गैरसैंण में चल रहे विधानसभा के बजट सत्र के तीसरे दिन आज विधानसभा भवन के बाहर जमकर रंग गुलाल उड़ा, ढोल दमाऊ और वाध्य यंत्रों के साथ जमकर लोक नृत्य किया गया। वहीं सदन के अंदर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के माला पहनकर पहुंचने पर विपक्ष कांग्रेस द्वारा आचरण नियमावली का उल्लघंन करने को लेकर जमकर हंगामा किया गया।

आज सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने से पूर्व भाजपाई विधायक और मंत्रियों ने जमकर जश्न मनाया। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत द्वारा कल गैरसैंण को सूबे की ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित करने के बाद पहाड़ पर जश्न का माहौल है।

आस पास के क्षेत्रोें से वाघय यंत्रों, फूल मालाओं तथा रंग गुलाल के साथ पहुंचे क्षेत्रवासियों ने उनका स्वागत किया और जमकर जश्न मनाया। जिसमें मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत भी नाचते गाते नजर आये। उन्होंने कहा कि प्रदेशवासियों की खुशी का ठिकाना नहीं है और वह होली से पहले ही होली मना रहे है इस बार प्रदेश के लोगों को दो दो बार होली मनाने का मौका मिला है। उधर खुशी से सराबोर मुख्यमंत्री जब सदन में पहुंचे तो उन्हे इस बात का भी अहसास नहीं था कि वह आचरण नियमावली का उल्लंघन कर रहे है।

कांग्रेस नेता प्रीतम सिंह ने सदन में उनके माला पहनकर आने को सदन की आचरण नियमावली के उल्लंघन का मामला उठाया गया। संसदीय कार्यमंत्री द्वारा मुख्यमंत्री का यह कहते हुए बचाव  किया गया कि उन्होंनेे जानबूझकर नियमावली का उल्लंघन नहीं किया है। गैरसेैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाने से खुश प्रदेश वासियों ने उन्हें मालाएं पहना दी है। विपक्षी सदस्य संसदीय कार्यमंत्री के तर्को से सहमत नहीं हुए। जिसे लेकर काफी समय तक हंगामा होता रहा।

उधर कांग्रेस ने जिला विकास विभाग की रिपोर्ट को बिना चर्चा के ही पास करने पर भी  सदन में जमकर हंगामा किया गया। जिसके कारण विधानसभा अध्यक्ष को सदन की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी।