ग्राहकों से वसूल रहे मनमाने रेटः अंकुश लगना जरूरी

विकासनगर:  राशन और सब्जी विक्रेता ग्राहकों से मनमाने रेट वसूल रहे हैं। औद्योगिक क्षेत्र सेलाकुई में खाद्य पदार्थों की कीमतें लगातार बढ़ती जा रही हैं। लेकिन शासन प्रशासन की ओर से इनके खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गयी।


नवरात्र के व्रत होने के कारण बाजार में फलों की डिमांड काफी अधिक है। व्रतधारी लोग फलों की जमकर खरीददारी कर रहे हैं। जिसके चलते फल व्यापारियों ने लोगों की मजबूरी का फायदा उठाना शुरू कर दिया है। खासकर बड़े फल विक्रेताओं की दुकानों पर अधिक लूट खसूट ग्राहकों से की जा रही है।


तीन दिन पहले तक सेलाकुईं बाजार में पपीता तीस रुपये किलो बिक रहा था, लेकिन आज पपीता सत्तर रुपये किलो में बेचा गया। जबकि अस्सी रुपये किलो बिकने वाले अंगूर की कीमत एक सौ बीस रुपये तक पहुंच गई। केला चालीस रुपये दर्जन से बढ़ कर साठ रुपये दर्जन पर बेचा गया।


सेब अस्सी से सौ रुपये किलो से बढ़ कर 140 रुपये तक पहुंच गया। संतरे भी पचास रुपये किलो से बढ़ कर सत्तर से अस्सी रुपये किलो तक पहुंच गये हैं। इन्हीं फलों की सर्वाधिक डिमांड बाजार में हैं। फल विक्रेताओं ने मनमाने रेट वसूल करने शुरू कर दिए हैं। इस मनमानी वसूली पर प्रशासन खामोश है।