हरिद्वारः जिला प्रशासन व एचआरडीए ने असहाय गरीबों को बांटे भोजन पैकेट

संजीव शर्मा, हरिद्वारः  कोरोना वायरस के कहर के बाद जनता कर्फ्यू और एक सप्ताह के लॉक डाउन के कारण रोजगार की किल्लत के  कारण बेघर और घुमन्तु ,गरीब, असहाय लोगो के लिए धर्म नगरी के लोगो के सहयोग में हाथ सामने आये है। जिसके तहत लॉक डाउन के दूसरे दिन एचआरडीए और जिला प्रशासन के सहयोग से कई संस्थाओ ने पहल करते हुए खाने के पैकेट और राशन की व्यवस्था की है।


इस पुण्य काम को पूरा करने की जिम्मेदारी जिला प्रशासन और एचआरडीए ने ली है।वही इनकी पहल को देखते हुए उपाध्यक्ष एचआरडीए व मेलाधिकारी दीपक रावत ने कहा है कि इस कार्य के लिए कार्य करने वालो की कमी नहीं आने दी जाएगी।


आपको बता दे कि धार्मिक नगरी  हरिद्वार में  सैकड़ो की संख्या में आश्रम व अखाड़े है। इन में से अधिकतर आश्रम अपना अन्न क्षेत्र चलाते है। जिनमे  सैकड़ो की संख्या में गरीब संत और घुमंतू लोग  भोजन कर अपना जीवन यापन करते है। मगर कोरोना का खघैफ व सरकार की सख्ती  के बाद इन संतो के सामने जीवन यापन का संकट पैदा हो गया है।


इस संकट को देखते हुए जिला वएचआरडीए  प्रसाशन ने पहल करते हुए निजी संस्थाओ और आश्रमों के सहयोग से इन गरीब संतो और घुमन्तुओ को भोजन पैकेट उपलब्ध करवाए द्यएस डी एम कुशुम चैहान और एचआरडीए सचिव हरवीर सिंह के अनुसार  यह एक संकट का समय है, इस वायरस से बचाने के लिए सरकारी स्तर पर अनेक कार्य किये जा रहे है।  


सबके स्वस्थ्य पर नजर रखने के साथ ही किसी को भूखा भी रहने नही दिया जाएगा। सचिव हरवीर सिंह ने बताया कि मंगलवार को ऐसे लोगो को खाने के एक हजार पैकेट बड़ा उदासीन अखाड़े के महामंडलेश्वर आनन्द भास्कर के सहयोग से बाटे गए है।जो लगातार प्रत्येक दिन बांटे जायेगे। उन्होंने बताया कि इस पहल को हरिद्वार के और भी संतो ने पहल की है। जिसमे  राशन के पैकेट भी उपलब्ध कराये गए है।  जिनमे प्रमिख रूप से जयराम आश्रम पीठाधीश्वर ,गरीबदासीय आश्रम ,व् निर्मल अखाडा प्रमुख है।