कोरोना की दहशतः देहरादून राजभवन में वसंतोत्सव रुका 

नवल टाइम्सः  कोरोना, संक्रमण और ओलावृष्टि सुंदर शब्द नहीं हैं, लेकिन ट्यूलिप, बरमीना, डहेलिया और पैंजी बहुत सुंदर और महकते शब्द हैं। महामारी हर बरस नहीं आती, वसंत हर बरस आता है। ओलावृष्टि और सामूहिक संक्रमण नियम नहीं अपवाद हैं। वे हर साल  नहीं आते।


फागुन और अपवाद नहीं, नियम हैं। वे हर साल आते हैं। आज अपवाद का नहीं, नियम का अभिनंदन हो। कोरोनावायरस के अंदेशे में राजभवन का पुष्प उत्सव भले ही थम गया हो, राजभवन के नजारे तो आप तक चल आ सकते हैं ना।