कोरोना पर सरकार सतर्क,स्वास्थ्य महकमा भी पूरी तरह अलर्ट
देहरादूनः कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर सरकार और स्वास्थ्य महकमा भी पूरी तरह अलर्ट है। अभी तक राज्य में एक भी कोरोना का मरीज नहीं मिला है। यह बात आज मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने एक पत्रकार वार्ता के दौरान कही। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर अब तक जिन लोगों के सैम्पल लिये गये थे उनकी जांच में अभी तक कोेई भी कोरोना पीड़ित नहीं मिला है। 

उन्हाेने कहा है कि नेपाल सीमा पार से आने वाले सभी लोगों की जांच का कार्य पूरी मुस्तैदी से किया जा रहा है। उन्होने कहा कि पिथौरागढ़ और चम्पावत जिले के धारचुला, वनवसा, खटीमा व झूलाघाट सहित सभी आठ चैकियों पर स्क्रीन टेस्टिंग का काम किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि अब तक 22,986 लोगों का स्क्रीन टेस्ट इन चैकियों पर किया गया है वहीं सूबे के हवाई अड्डों पर भी स्क्रीन टेस्टिंग का काम किया जा रहा है। जौलीग्रांट  व पंतनगर सहित सभी हवाई अड्डों पर अब तक 41,508 लोगों का स्क्रीन टेस्ट हुआ है लेकिन किसी में भी कोरोना के लक्षण नहीं पाये गये है।

मुख्यमंत्री द्वारा बताया गया कि राज्य का स्वास्थ्य महकमा कोरोना वायरस से निपटने की सभी तैयारियां कर चुका है। हल्द्वानी और ऋषिकेश एम्स में जांच केन्द्र बनाये गये है। वहीं राज्य के तमाम अस्पतालों में कुल 337 आइसोलेशन वार्ड बनाये गये है। सीएम ने बताया कि जो अब तक सैम्पल लिये गये है उनमें एक भी कोरोना मरीज नहीं मिला है।

उन्हाेने कहा कि विदेशों से आने वाले यात्रियों व पर्यटकों पर भी नजर रखी जा रही है तथा एहतियातन राज्य के 12वीं तक के स्कूलों को 31 मार्च तक बंद रखने के आदेश दिये गये है।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा जरूरी दवाओं, मास्क और उपचार की पर्याप्त व्यवस्था की गयी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए सर्तकता और सफाई पहली जरूरत है। उन्हाेने कहा कि लोग घबराये नहीं सिर्फ सावधानी बरतें। सरकार  द्वारा कोरोना सम्बन्धित सूचनाएं देने के लिए 104 टोल फ्री फोन नम्बर भी जारी किया गया है। उन्हाेने कहा कि हम हर स्तर पर मानटिरिंग कर रहे हैं, अब तक सभी कुछ सामान्य ही है।