लाॅकडाउन के दौरान दवा एवं खाद्य सामग्री की दुकानों को छोड़कर शेष सभी रहेंगी बंद
नवल टाइम्सः  भारत सहित विश्व में महामारी का पर्याय बने कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए सामाजिक दूरी एवं पृथक्कीकरण (सोशल डिस्टेंसिंग एवं आसोलेशन) के उपायों को लागू किये जाने के मद्देनजर उत्तराखण्ड शासन द्वारा उत्तराखण्ड कोविड-19 एक्ट 2020, एपेडेमिक डिजीज एक्ट 1897 के प्रभावी होने के फलस्वरूप शासन के आदेश 22 मार्च के माध्यम से 22 मार्च रात्रि 09 बजे से 31 मार्च रात्रि 11:59 बजे तक लाॅक डाउन की अधिसूचना जारी की गयी है।

उत्तराखण्ड शासन की लाॅक डाउन की अधिसूचना के क्रम में अवगत कराया गया है कि लाॅक डाउन के दौरान सार्वजनिक परिवहन सेवाओं यथा बस, आटो रिक्शा का आवागमन प्रतिबन्धित रहेगा तथा यह प्रतिबन्ध आवश्यक सेवाओं यथा अस्पताल, आवश्यक वस्तु एवं सेवाएं प्रदान करने वाली संस्थायें एवं प्रतिष्ठान व सचिवालय में आवश्यक सेवाओं से सम्बन्धित वाहनों पर लागू नहीं होगा।

एयरपोर्ट से आने-जाने हेतु वाहनों को आवश्यक दस्तावेज दिखाने पर छूट होगी। उक्त अवधि में सभी दुकानें, (दवा एवं खाद्य सामग्री की दुकानों को छोड़कर) व्यवसायिक प्रतिष्ठान, रेस्टोरेंट, कार्यालय, उद्योग, कार्यशाला कारखाने तथा गोदाम इत्यादि बन्द रहेंगे।

सभी स्थानीय विदेशी प्रवासी उक्त अवधि के लिए अपने घरों पर ही प्रवास करेंगे। केवल मूलभूत सुविधाओं के लिए सामाजिक दूरी के मानकों का पालन करते हुए ही घर से बाहर निकलने की अनुमति होगी।

जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि आवश्यक सेवाएं प्रदान करने वाले संस्थाओं को प्रतिबन्धों  में शिथिलता रहेगी जिनमें, कार्यालय जिला मजिस्ट्रेट, अपर जिला मजिस्ट्रेट, नगर मजिस्ट्रेट, समस्त उप जिलाधिकारी तथा तहसील जनपद देहरादून, पुलिस, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं, शहरी स्थानीय निकाय, अग्निशमन, विद्युत, पेयजल व नगर निगम, बैंक, एटीएम, प्रिंट, इलैक्ट्रानिक एवं सोशल मीडिया तथा वितरण से सम्बन्धित वाहन, टेलीफोन एवं इंटरनेट सर्विस प्रदाय संस्थाएं, डाक सेवाएं, आवश्यक सेवाओं की सप्लाई चेन तथा परिहवन सेवाएं, ई-कामर्स, सभी आवश्यक वस्तुओं की ई-कामर्स आधारित आपूर्ति जिसमें भोजन, दवाईयां एवं चिकित्सा उपकरण सामग्री, खाद्य पदार्थ, किराने का सामान, दूध ब्रेड, फल, सब्जी, मीट मछली तथा पशुओं का चारा इसके परिवहन से सम्बन्धित गतिविधयां भण्डारण, चिकित्सालय, दवाईयों की दुकाने औषधि एवं फाॅर्मासूटिकल्स, विनिर्माण तथा उनके परिहवन से सम्बन्धित गतिविधियां, पैट्रोल पम्प, एलपीजी गैस एंजेंसियां से सम्बन्धित गोदाम व उसके परिवहन से सम्बन्धित गतिविधियां शामिल है।

आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं की आपूर्ति को बनाये रखने के निमित्त उद्देश्यों को छोड़कर जनपद से लगती हुई अन्र्तराज्जीय सीमाएं पूर्णतः बन्द रहेंगी। उक्त अवधि में सार्वजनिक स्थानों पर 5 व्यक्तियों से अधिक का समूह एकत्रित होना निषिद्ध है। ऐसे निजी प्रतिष्ठान जो कोविड-19 के प्रसार को रोकने में सहायक हैं ऐसे प्रतिष्ठान भी खुले रहेंगे।

यदि किसी व्यक्ति को किसी प्रकार का संदेह हो कि कोई प्रतिष्ठान आवश्यक प्रतिष्ठान के अन्तर्गत शामिल है या नही का भी विनिश्चय करने के लिए जिला मजिस्ट्रेट समुचित प्राधिकारी होंगे।