निराश्रित व साधु संतों की भोजन सहित जरूरी व्यवस्थाओं के लिए क्षेत्र की संस्थाएं तैयार

नवल टाइम्सः स्वयंसेवी संस्थाएं प्रशासन के सहयोग को पूरी तरह तैयार हैं। संस्थाओं का कहना कि प्रशासन को उनकी सेवाएं लेनी चाहिए। इससे क्षेत्र के निराश्रित व साधु संतों को भोजन सहित जरूरी व्यवस्थाएं मुहैया कराई जा सकेंगी।


समाजसेवी दिनेश कोठारी का कहना है कि लॉक डाउन के बाद प्रशासन पर काफी दबाव है। ऐसे में ऋषिनगरी में रहने वाले निराश्रित व साधु संतों की भोजन सहित जरूरी व्यवस्थाओं के लिए क्षेत्र की संस्थाएं तैयार हैं।


इसके लिए प्रशासन को उनका सहयोग लेना चाहिए। कोठारी का कहना है कि ऐसी संस्थाओं के कुछ सदस्यों के पास बनवाएं जाएं। ताकि वह निराश्रितों को भोजन व कपड़े बांट सकें।


उनका कहना है कि बीते दिनों यात्रा अड्डे पर अचानक पहुंचे यात्रियों को दो दिन तक क्षेत्र की संस्थाओं ने भोजन पानी की सुविधाएं मुहैया कराई। जिसकी प्रशासन ने सराहना भी की। बुधवार शाम को भी त्रिवेणी घाट पर निराश्रितों को भोजन व पानी की बोतल वितरित की गईं।