सेलाकुईः प्रदर्शनकारियों ने धरना स्थल पर ही खेली होली
सेलाकुईः शीशमबाड़ा कूड़ा निस्तारण केन्द्र के विरोध में धरना 155वें दिन भी जारी रहा। महिलाओं ने आज धरना स्थल पर पहुंचकर अपना आक्रोश प्रकट किया औऱ सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। क्षेत्रवासियों ने अपने घरों पर होली ना मनाकर धरना स्थल पर ही होली खेली।

आंदोलनकारियों ने कहा कि जब से कूड़ा निस्तारण केन्द्र शीशमबाड़ा में बना है तब से कोई भी त्यौहार व सामूहिक आयोजन नही कर पा रहे है। उन्होंने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत औऱ सहसपुर विधायक सहदेव पुंडीर को आड़े हाथो लेते हुए आरोप लगाया कि जन सरोकारों औऱ जनहित से सरकार औऱ विधायक सांसदो को कोई सरोकार नही रहा है सरकार को पता होते हुए भी कि कूड़ा निस्तारण केन्द्र लोगो की मौत क़ा सबब बन रहा है, गंभीर बीमारियों क़ा अड्डा सेलाकुई औऱ आसपास के गांव बन गए है पिफ़र भी कोई पहल होती नजर नही आ रही है।

महिलाओं ने कहा कि अब क्षेत्रवासी कूड़ा निस्तारण केन्द्र से त्रास्त हो चुके है ऐसे में कोई गंभीर कदम भी उठाना पड़े तो कोई गुरेज नही किया जाऐगा, इसके लिऐ चाहे किसी भी हद तक जाना पड़े पीछे नही हटेंगी अगर इस दौरान कोई भी अप्रिय घटना घटती है तो जिम्मेदार शासन प्रशासन औऱ उत्तराखंड सरकार होगी।

धरना प्रदर्शन करने वालों में सुधीर रावत, अनिल भट्ट, नीलम थापा, प्रेम सिंह नेगी, बीना बमराडा, सुमित्रा रावत, नीमा जोशी, उमा पँवार, आशा रावत, कविता नेगी, रेखा भट्ट, सुलोचना रावत, पूनम पँवार, रीता शर्मा, नीति पँवार, रेवा देवी जुयाल, पुष्पा नौटियाल, कुसुम भट्ट, आदिती, रुपाली, संगीता अग्रवाल, जयशिखा अग्रवाल, बीरा चैहान, नीलम नेगी, वैशाली, संदीप भंडारी आदि लोग शामिल रहे।