उत्तराखंड की याशिका बनी थल सेना में अधिकारी


नवल टाइम्सः पौड़ी गढ़वाल निवासी याशिका ने थल सेना में अधिकारी बनकर राज्य का नाम रोशन किया है। ऑफिसर ट्रेनिंग एकेडमी (ओटीए) चेन्नई से पास आउट होकर सेना का हिस्सा बनी याशिका ने दून के सीजेएम से 12वीं करने के बाद चंडीगढ़ से ग्रेजुएशन किया।


मूलतः बुघाणी, भैसकोट, पौड़ी गढ़वाल निवासी याशिका नयाल के माता-पिता ने अपनी होनहार बिटिया के कंधे पर सितारे सजाए। उनके पिता योगेंद्र सिंह नयाल ने बताया कि चंडीगढ़ से बीए करने के बाद याशिका ने सीडीएस क्वालिफाई किया। ओटीए चेन्नई में एक साल की कड़ी ट्रेनिंग लेकर वह लेफ्टिनेंट बनीं हैं।


याशिका के पिता योगेंद्र सिंह नयाल भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण में वरिष्ठ ड्राफ्ट्समैन के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि याशिका ने बचपन से भारतीय सेना में अफसर बनने का सपना देखा था। इसके लिए उसने जमकर मेहनत भी की।


योगेंद्र सिंह नयाल ने कहा कि याशिका की सफलता से क्षेत्र की अन्य बालिकाओं को भी संघर्ष कर आगे बढ़ने का हौसला और प्रेरणा मिलेगी।