उत्तराखण्ड मानवाधिकार आयोग द्वारा परिवादों पर नहीं होगी सुनवाई

नवल टाइम्सः अनु सचिव उत्तराखण्ड मानवाधिकार आयोग अखिलेश मिश्रा ने बताया कि विश्व भर में कोरोना वायरस का संक्रमण जन समस्या के रूप में आपदा का रूप ले रहा है। इस स्थिति को देखते हुए उत्तराखण्ड मानवाधिकार आयोग, देहरादून द्वारा सिर्फ अति-महत्वपूर्ण प्रकरणों में सुनवाई की जा रही हैं।


वर्तमान स्थिति में सक्रमण की त्वरित प्रकृति के दृष्टिगत निरंतर प्रभावी रोकथाम करने हेतु 23, 24, 25, 26, 30 एवं 31 मार्च को आयोग में निर्धारित परिवादों की सुनवाई नहीं होगी तथा उक्त तिथियों में लगे हुए परिवादों में सुनवाई क्रमशः 24, 25, 26, 27 एवं 31 अगस्त तथा 01 सितम्बर को की जायेगी।