उत्तराखंड में बड़ी संख्या में कैदी होंगें रिहा
संजीव शर्मा, नवल टाइम्सः  काशीपुुर निवासी सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन नेे मुुख्यालय, महानिरीक्षक कारागार, उत्तराखंड सेे उत्तराखंड की जेेलों की क्षमता तथा उसमें बंद कैैदियों के सम्बन्ध में सूूचना मांगी।

कोरोना के बचाव हेतु सुप्रीम कोर्ट के कैदियों को रिहा करने के आदेश के पालन में उत्तराखंड में बड़ी संख्या में कैदी रिहा करने होंगे। 

सूूचना के अनुुसार उत्तराखंड मेें स्थित कुुल 11 जेेलोें की क्षमता 3540 कैैदियों की हैै जबकि उसमें सूूचना उपलब्ध करानेे की तिथि को 5748 कैैदी बंद है। जिसमें 2259 सिद्ध दोेष तथा 3489 विचाराधीन कैैदी है।

कुल कैैदियों मेें 61 प्रतिशत कैैदी विचाराधीन हैै, केेवल 39 प्रतिशत ही न्यायालय सेे सजा पायेे कैैदी हैै।

उत्तराखंड मेें 3 जेेलेे ऐेसी भी है जिसमेें उनकी क्षमता सेे कम कैैदी है। क्षमता सेे सबसेे कम कैदी सम्पूर्णनन्द शिविर सितारगंज में बंद हैै। इस जेेल की क्षमता 300 कैैदियों की हैै जबकि केेवल 45 कैैदी ही बंद है, दूसरेे स्थान पर चमोेली जेेल मेें क्षमता क्षमता 169 कैैदियों की हैै जबकि केेवल 91 कैैदी तथा तीसरे स्थान पर कारागार सितारगंज मेें क्षमता 552  कैैदियों की हैै जबकि केेवल 491 कैैदी ही बंद है