आईआईपी की बड़ी पहलः कोरोना योद्धाओं को निशुल्क उपलब्ध कराया जा रहा हैंड सेनेटाइजर 
देहरादूनः कोविड-19 वैश्विक महामारी से चल रही हमारी इस जंग में देहरादून स्थित सीएसआईआर-भारतीय पेट्रोलियम संस्थान (आईआईपी),जो पेट्रोलियम और ऊर्जा के क्षेत्र में अनुसंधान कार्य में कार्यरत एक अग्रणी सीएसआईआर-प्रयोगशाला है, ने कोरोना योद्धाओं को निशुल्क हैंड सेनेटाइजर उपलब्ध कराने संबंधी एक बड़ी पहल की है।

डॉ. अंजन रे निदेशक आईआईपी ने कोविड-19 महामारी के विरुद्ध लड़ने और हमारे कोविड-19 के प्रथम पंक्ति के योद्धाओं को सहयोग करने के लिए सामरिक निर्णय लेते हुए यथासमयपूर्व डॉ. उमेश कुमार के नेतृत्व में एक हैंड सैनिटाइजर निर्माता टीम का गठन किया। इस टीम में डॉ. उमेश कुमार, डॉ. टी. सेंथिल कुमार, शिवसिंह रावत तथा संजय मौर्य मुख्य रूप से शामिल हैं। संस्थान द्वारा अब तक 2000 लीटर हैंड सैनिटाइजर तैयार किया गया है।

अब तक संस्थान ने दून अस्पताल में कोविड -19 पृथक्करण वार्ड में चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों के प्रयोग के लिए 400 लीटर  हैंड सैनिटाइजर निःशुल्क प्रदान किया है। इसके अतिरिक्त राज्य आपदा राहत बल (एसडीआरएफ)  को 160 लीटर और अधीनस्थ आसूचना ब्यूरो को 80 लीटर हैंड सैनिटाइजर निःशुल्क प्रदान प्रदान किया गया है।

स्थानीय पुलिस विभाग के अनुरोध पर भी संस्थान द्वारा 400 लीटर  हैंड सैनिटाइजर उपलब्ध करवाया गया है। इसके साथ स्थानीय शाखा को भी उनके अनुरोध अनुसार आवश्यक मात्रा  में हैंड सैनिटाइजर प्रदान किया गया। इसके अतिरिक्त संस्थान परिसर में बेहतर सफाई व्यवस्था और सेनिटाइजेशन के लिए प्रयोग करने हेतु 600 लीटर हैंड सैनिटाइजर संस्थान में वितरित किया गया है।

संस्थान में बाहर से आने वाले व्यक्तियों के हाथों को विषाणु मुक्त करने के लिए आईआईपी के सुरक्षा कर्मियों को 100 लीटर से अधिक हैंड सैनिटाइजर प्रदान किया गया है। आईआईपी-स्वास्थ्य केंद्र में प्रत्येक प्रवेश करने वाले व्यक्ति के हाथों को विषाणु मुक्त करने के लिए स्वास्थ्यकेंद्र को भी 40 लीटर  हैंड सैनिटाइजर प्रदान किया गया है। संस्थान के प्रशासन, क्रय एवं भंडार अनुभाग, वित्त एवं लेखा अनुभाग, सुरक्षा तथा साफ-सफाई और स्वच्छता अनुभाग के अधिकारी व कर्मचारी भी इस अभियान में विशेष सहयोगी हैं।