भारत में कोरोना वायरस के खिलाफ 10 अप्रैल से शुरू होगा कोड-19 ऑनलाइन हैकथॉन

10,000 अमरीकी डाॅलर के पुरस्कार


संजीव शर्मा, हरिद्वारः सिलिकॉन वैली स्थित मोटवानी जडेजा फाउंडेशन सर्वश्रेश्ठ बौद्धिक प्रतिभाओं को एक साथ लाने के लिए कोड-19 के नाम से 72 घंटे के आनलाइन हैकथाॅन का आयोजन कर रहा है ताकि कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण भारत के समक्ष उत्पन्न चुनौतियों का समाधान खोजा जा सके।


यह प्रतियोगिता 10 अप्रैल, 2020 (गुड फ्राइडे) से शुरू होगी और इसमें विभिन्न देशों तथा नस्लों 3,000 से अधिक प्रतिभागियों के हिस्सा लेने की उम्मीद है। भारत में 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान, अपने घरों से आराम से ऑनलाइन काम करते हुए, प्रतिभागी कोविड-19 के समाधान की खोज के लिए मेंटरों, विषय के विशेषज्ञों, डाटा स्रोतों तथा सहयोगियों के एक नेटवर्क के साथ सहयोग करेंगे।


ऑनलाइन हैकथॉन किसी भी मानदंड या आयु सीमा के बगैर सभी लोगों और टीमों के लिए खुला है। जो इसमें हिस्सा लेना चाहते हैं वे 10 अप्रैल को शाम 6 बजे तक साइन अप कर सकते हैं। प्रसिद्ध उद्यमी, निवेशक और समाजसेवी तथा मोटवानी जडेजा फाउंडेशन की संस्थापक आशा जडेजा मोटवानी ने कहा, ‘‘कोरोना वायरस भारत के सामने एक बड़ी स्वास्थ्य चुनौती है। किसी भी नए संकट के मुकाबले के लिए विचारों और समाधान की नई रणनीतियों के समूहों की आवश्यकता होती है। इसलिए, कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में इस बात की जरूरत है कि नए विचारों एवं समाधानों को खोजने के लिए हम सब मिलकर दिमाग लगाएं।


कोड-19 एक ऐसा मंच है जो ऐसी बौद्धिक प्रतिभाओं को एक साथ लाता है। इसका उद्देष्य यह है कि साझी कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग की षक्ति का उपयोग करके हम ऐसी गुणात्मक परियोजना तैयार करें जिसका स्रोत सार्वजनिक हो और जो कोरोना वायरस के संकट के कारण देश में उत्पन्न भारी चुनौती का समाधान करने में मददगार साबित हो।’’उन्होंने आगे कहा, ‘‘कोड-19 का लक्ष्य शीध्रता से ऐसे समाधान विकसित करना है जो रोजमर्रा की जिंदगी में लागू हो सके। प्रतिभागियों को कोरोनो वायरस प्रकोप तथा भारत पर इसके प्रभाव को डिकोड करने तथा कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न होने वाली चुनौतियों को कम करने के लिए स्मार्ट समाधान इंकोड करने का काम दिया जाएगा। 


 


 


 


 


 


 


 


 


 


 


 www.hackerearth.com/challenges/hackathon/code19-india/