डेढ़ सौ परिवारों के पास तीन बेटियों ने घर-घर पहुंचाया खाने का सामान


देहरादून:  कोरोना वायरस संक्रमण के चलते घरों से बाहर नहीं निकल पाने की वजह से लक्खी बाग दरभंगा बस्ती के कई परिवारों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया। ये परिवार रोज कमाने और खाने पर निर्भर हैं।


इसी बस्ती में रहने वाली करीब 20 साल की मीना पासवान, उसकी बहन मनीषा और गुंजा पासवान और उनके साथियों ने किसी पर निर्भर हुए बिना खुद ही खाद्य सामग्री घर घर तक पहुंचाने का जिम्मा उठा लिया, वो भी सरकार के सभी निर्देशों को ध्यान में रखते हुए नियो विजन संस्था के माध्यम से मिल रहे राशन को घर-घर तक पहुंचाने के लिए पैकेट बनाने से लेकर घरों तक पहुंचाने का काम किया जा रहा है।


लक्खीबाग में नियो विजन संस्था के सहयोग बीएससी एनिमेशन कर चुकीं मीना और गुंजा अब बच्चों को पढ़ाने का कार्य कर रही हैं। कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से पूरे देश में लॉकडाउन के कारण उनकी बस्ती में कई परिवारों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।