एकीकृत आजीविका परियोजना कर रही जिला प्रशासन का सहयोग

अल्मोड़ाः  जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने बताया कि एकीकृत आजीविका सहयोग परियोजना की जिला इकाई अल्मोड़ा द्वारा जिला प्रशासन के साथ मिलकर कोरोना महामारी के रोकथाम के लिए किये जा रहे प्रयासों में पूर्ण सहयोग प्रदान किया जा रहा है।


परियोजना गठित कुल 45 आजीविका संघों द्वारा दूरस्थ ग्राम समुदाय के साथ कार्य किया जा रहा है। सदस्यों को दैनिक उपभोग की वस्तुओं एवं उनके पशुओं हेतु पशु पोषक आहार की आपूर्ति भी की जा रही है। वर्तमान परिस्थितियों में दैनिक उपभोग की वस्तुओं को 3 से 4 माह के क्रेडिट में उपलब्ध करवाया जा रहा है।
इस सम्बन्ध में प्रभागीय परियोजना प्रबन्धक कैलाश चन्द्र भट्ट  ने बताया सहकारिता द्वारा उपलब्ध करवाये जा रही वस्तुओं के अन्तर्गत आटा, चावल, दाल, चीनी, गुड़, तेल, आलू, प्याज, साबुन, मसाला आदि प्रमुख हैं। इसके अतिरिक्त समूह सदस्यों की मांग पर दुधारू पशुओं हेतु पशुपोषक आहार, चोकर, कैल्शियम आदि भी उपलब्ध करवाया जा रहा है।


सहकारिताओं द्वारा समूह सदस्यों को उनके ग्राम स्तर पर यह समस्त दैनिक उपभोग की वस्तुओं को उपलब्ध करवाया जा रहा है इसके अलावा सदस्यों द्वारा मास्क बनाने का कार्य भी किया जा रहा है। उन्होंने बताा कि लाॅक डाउन अवधि के दौरान आजीविका संघों द्वारा लगभग रू. 27 लाख की सामग्री को अपने सदस्यों तक पहुंचाया गया है। इसके अतिरिक्त सहकारिता आजीविका संघों द्वारा टेक होम राशन, के अन्तर्गत भी 8 लाख के पोषक तत्वों की संबंधित लक्षित समूह की जा चुकी है। आजिविका संघों द्वारा ग्राम क्षेत्र में संक्रमण से बचाव हेतु जिला प्रशासन के सहयेाग से प्राप्त 20 लीटर सोडियम हाइपोक्लोराईड का छिड़काव भी आजीविका संघों के कार्मिकों द्वारा किया जा रहा है। विभिन्न स्थानों में ग्राम प्रधान, संघ प्रतिनिधि भी सहयोग कर रहे है।