गंभीर बीमारी के मामलों में त्वरित कार्यवाही न होने से रोष

टिहरीः  जनपद के आलाधिकारी गंभीर बीमारियों व दाह संस्कार के मामलों में फोन न उठाने के साथ ही पास भी जारी नहीं कर रहे हैं। जिससे आम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस बाबत लोगों ने टिहरी विधायक डा धन सिंह नेगी के संज्ञान में भी यह मामला लाया है। जिस पर विधायक ने त्वरित संज्ञान लेते हुय डीएम डा वी षणमुगम को इस बाबत पत्र लिखा है। जिसमें विधायक नेगी ने कड़ी नाराजगी जाहिर की है। डीजीपी अशोक कुमार भी इस बाबत सभी जिलों के एसएसपी को इस बाबत पत्र लिखकर मानवीय पहलु को भी ध्यान में रखने की हिदायत दे चुके हैं।
कोरोना काल के इस दौर में जब जिला प्रशासन को सभी अहम जिम्मेदारियों सौंपी गई हैं। ऐसे में जिला प्रशासन के कुछ आलाधिकारी व कर्मचारी मामलों को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। जिसका खामियाजा गंभीर बीमारी से पीड़ीत व उनके परिजन को उठाना पड़ रहा है। न तो इनके फोन अधिकारी रिसीव कर रहे हैं, नहीं इनके पास के लिए आवेदनों पर गौर किया जा रहा है। पास के आवेदनों को सीधे कैंसल कर दिया जा रहा है।


परेशानी को देखते हुये लोगों ने इसकी शिकायत क्षेत्रीय विधायक डा धन सिंह नेगी से की, नेगी ने स्वयं मामलों का संज्ञान लेते हुये डीएम को अवगत कराया कि चंबा व क्यारी के मामलों में प्रशासन के अधिकारियों की लापरवाही सामने आ रही है। जिससे लोगों में रोष है। विधायक ने सभी परगनाओं व आपदा प्रबंधन केंद्र की सुविधाओं को दुरूस्त करने के साथ ही प्रशासन की सभी व्यवस्थाओं को अखबारों व सोशल मीडीया के माध्यम से प्रचारित कराने के निर्देश डीएम डा वी षणमुगम को दिये।


इस बाबत उन्होंने दूरभाष पर डीएम से वार्ता भी की। जिसके बाद डीएम डा वी षणमुगम ने सभी अधिकारियों को गंभीर बीमारियों व दाह संस्कार के मामलों में तत्काल पास जारी करने व दाह संस्कार को जाने वाले लोगों को न रोकने के आदेश दिये। दाह संस्कार कोरोना काल के मानकों के तहत करवाने के भी निर्देश दिये।