कोरोना वॉरियर्स को कलात्मक सलामी

ऋषिकेशः लॉकडाउन की अवधि में घर में बड़ी संख्या में बैठे बच्चों को ऋषिकेश के युवा चित्रकार राजेश चंद्र पेंटिंग के जरिए समय बिताने की ट्रिक बता रहे हैं। इन्हें सोशल मीडिया में काफी पसंद किया जा रहा है। साथ ही राजेश चंद्र की फ्रंटलाइन वॉरियर्स पुलिस और डॉक्टर्स के जज्बे को सलाम करती हुई पेंटिंग्स भी काफी पसंद की जा रही हैं। 

इन पेंटिंग्स को उत्तराखंड पुलिस ने भी काफी सराहा है। इन पेंटिंग्स के साथ ही राजेश चंद्र यह भी मैसेज दे रहे हैं कि कोरोना वायरस से लड़ाई में अनुशासन बनाए रखकर आम आदमी भी अपनी भूमिका निबाह सकता है। राजेश चंद्र ने टीवी पर मध्य प्रदेश के एक पुलिसकर्मी के घर के बाहर बैठकर खाना खाते और दरवाजे से उनकी बेटी के झांकने का वीडियो टीवी पर देखा तो उनका मन द्रवित हो गया।

उन्होंने तुरंत ही इस दृश्य को कागज पर उतारना शुरु कर दिया। राजेश कहते हैं कि लॉकडाउन को सजा के रूप में नहीं देखना चाहिए। घर में रहकर आम आदमी अपने शौक पूरे कर सकता है, जैसे कि वह पेंटिंग्स बनाकर कर रहे हैं। पुलिसकर्मी से प्रेरणा लेकर राजेश ने यह तस्वीर बनाई जिसमें डॉक्टर्स और पुलिसकर्मियों की कोरोना वायरस से जंग को दर्शाया गया है। इस पेटिंग के लिए उनकी उत्तराखंड पुलिस की भी प्रशंसा मिली। राजेश कहते हैं कि फ्रंटलाइन कोरोना वॉरियर्स की मदद हम लॉकडाउन को सफल बनाकर कर सकते हैं। सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखकर आम नागरिक भी कोरोना से जंग में अपनी भूमिका निबाह सकता है और मिलकर सब इस महामारी को हरा सकते हैं।