लाॅक डाउन के दौरान गर्भवती महिलाओं को डाॅ सुजाता संजय देंगी निःशुल्क टेलीफोनिक परामर्श 
देहरादूनः  महिला पुलिस कर्मियों व गर्भवती महिलाओं को डाॅ सुजाता संजय द्वारा टेली मेडिसिन द्वारा निःशुल्क परामर्श दिया जाएगा। डाॅ0 सुजाता संजय ने गर्भवती महिलाओं से अनुरोध किया है कि वे घर से बाहर निकलने से बचें, क्योंकि सामाजिक दूरी ही कोरोना से बचा सकती हैं। जिस गर्भवती महिला को कोई परेशानी महसूस हो रही हो तो वह मो. नं. 9149248704 पर डाॅ0 से सलाह व उपचार ले सकती हैं। फोन करने से पहले अपनी सारी जाँचे व पर्चा व्हाट्स-एप करेंगे। 

  संजय आर्थेापीडिक, स्पाइन एवं मैटरनिटी सेंटर कि स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ, डाॅ0 सुजाता संजय, ने बताया कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच गर्भवती महिलाएं व महिला पुलिस कर्मियों अपना विशेष ध्यान रखें। घरों की अन्य महिलाओं सहित परिजन भी महिलाओं से घरों में भी दूरी बनाए रखें। गर्भवती महिलाएं बिल्कुल भी घरों से बाहर नहीं निकलें।

डाॅ0 सुजाता संज ने बताया कि गर्भावस्था के दौरान गर्भ में पल रही नन्हीं जान के लिए मां हर तरह की सावधानी बरतती है। क्योंकि इस दौरान मां सिर्फ अपना शरीर ही नहीं बल्कि अपनी इम्युनिटी पावर भी बच्चे के साथ बांट रही होती हैं। जहां हर तरफ कोरोना वायरस का खतरा मंडरा रहा है, वहीं गर्भवती महिलाओं को थोड़ा सतर्क रहना जरूरी हैं। लेकिन चिंता करने की कोई बात नहीं है, सही समय पर सही सावधानियां आपकी पूरी मदद करेंगी।

डाॅ0 सुजाता संजय ने बताया किशरीर के लिए बीमार होना वैसे ही बहुत कष्टदायक होता है, ऐसे में अगर कोई गर्भवती हैं तो उसको चितिंत होना स्वाभाविक है। हालांकि इस बीमारी के लक्षण बुखार, खाँसी, सांस लेने में तकलीफ आदि आम फ्लू के ही होते हैं। लेकिन इस कोरोना वायरस के दौरान यही आम से लक्षण आपके लिए मिनटों में जानलेवा बन जाते हैं। अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बना है। गर्भवती महिला अपनी सेहत का बेहतर ढंग से ख्याल रखें और अपने आस पास के महौल को साफ सुथरा रखें। हाथों को साफ रखने के लिए उन्हें पानी और साबुन से अच्छे से धोएं। साफ-सफाई के साथ मास्क पहने से ज्यादा जरूरी है हाथों को साफ रखना। थोङी सी सावधानी मां एवं नवजात शिशु को जीवनदान दे सकती हैं