निजामुद्दीन मरकज: इंसानियत के दुश्मनों को समाज मे रहने का कोई अधिकार नही

संजीव शर्मा, हरिद्वारः नई दिल्ली निजामुद्दीन मरकज में मौलाना साद की लापरवाही व अनियमितता के चलते देश, दुनिया के कोने कोने से आये मुस्लिम समुदाय के जमातियों को कोरोना संक्रमण की चपेट में आने से जहाँ एक ओर  केंद्र की मोदी सरकार व राज्य सरकारे चिंतित है वही सामाजिक संगठनों व उनके प्रतिनिधि भी मौलाना साद व उनकी संस्था को देश मे प्रतिबंधित करने की मांग को लेकर खुलकर सामने आने लगे है।
पूर्व मंडी समिति अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने कहा निजामुद्दीन मरकज की लापरवाही की वजह से देश दुनिया के जमातियों को कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में आना पड़ गया, जोकि एक बहुत बड़ी लापरवाही का नतीजा है।  इस कोरोना वायरस की जंग में और मुस्तेदी के साथ सभी समाजिक संस्थाओ व आम नागरिकों को लॉकडाउन का अच्छे से पालन कर एक सच्चे देशभक्त योद्धा के तरह लड़ना होगा।


उन्होंने कहा मैं मांग करता हूँ मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से उत्तराखंड, हरिद्वार से जमातियों को उत्तराखंड से दूर उचित स्थान पर स्वास्थ्य कर्मियों की देखरेख में रखा जाए ताकि उत्तराखंड इस कोरोना वायरस के संक्रमण से दूर ही रहे। उन्होंने यह भी कहा मौलाना साद जैसे समाज के दुश्मन व इंसानियत के दुश्मन को समाज मे रहने का कोई अधिकार नही है सभी समुदाय के लोगो को मिलकर ऐसे लोगो का सामाजिक बहिष्कार करना चाहिए।