सात हॉट स्पॉट इलाकों में 2 लाख से अधिक लोग क्वारंटाइन

देहरादून:  कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने 7 हॉट स्पॉट इलाकों को सील किया है। इन हॉट स्पॉट वाले इलाकों में करीब 2 लाख से अधिक लोग क्वारंटाइन किए गए हैं।


सरकार के आधिकारिक आंकड़ों की बात करें तो करीब 55 हजार से ज्यादा लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है। लेकिन इन हॉट स्पॉट की जनसंख्या यह बताती है कि करीब 2 लाख से अधिक लोग होम क्वारंटाइन किए गए हैं। उत्तराखंड में कुल 7 हॉट स्पॉट एरिया चिन्हित हैं। इसमें सबसे ज्यादा 4 हॉट स्पॉट राजधानी देहरादून में हैं। दो हॉट स्पॉट हरिद्वार और एक नैनीताल में चिन्हित किया गया है। देहरादून में भगत सिंह कॉलोनी, कारगी ग्रांट और लक्खीबाग के नजदीक इलाकों को हॉट स्पॉट घोषित किया गया है।


पुलिस ड्रोन, सीसीटीवी कैमरों और पेट्रोलिंग के जरिए इन इलाकों पर चैबीसों घंटे नजर रख रही है। कोरोना हॉट स्पॉट के रूप में चिन्हित इलाकों में लॉकडाउन का 100 प्रतिशत पालन कराया जाता है। इन इलाकों में किसी भी तरह की दुकान खोलने की इजाजत नहीं होती। इसके अलावा इन इलाकों में पुलिसकर्मियों और मेडिकल टीम के अलावा किसी को भी आने-जाने की इजाजत नहीं होती है। हॉट स्पॉट वाले इलाकों में लोगों को जरूरत के सामानों जैसे-दवा और राशन के लिए भी घरों से निकलने की इजाजत नहीं दी जाती है।


जिला प्रशासन राशन, दवाइयां लोगों के घरों तक पहुंचाती है। कोरोना वायरस महामारी को लेकर स्वास्थ्य विभाग के वॉरियर्स भी अपनी विशेष सेवाएं दे रहे हैं। हॉट स्पॉट क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग ने आशा वर्कर्स, एएनएम, पैरामेडिकल स्टाफ डोर-टू-डोर लोगों की ट्रैवल हिस्ट्री और मेडिकल चेकअप का डेटा तैयार कर रहे हैं।