कोरोना अपडेटः पहाड़ में कोरोना संक्रमण की दस्तक, प्रदेश में संक्रमितों की संख्या हुई 68  

संजीव शर्मा, नवल टाइम्सः  उत्तराखंड में कोरोना वायरस के मरीज लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। आज सुबह एक और कोरोना संक्रमित मरीज सामने आया है। यह मरीज ग्रीन जोन उत्तरकाशी का है। उत्तरकाशी जिले में कोरोना का यह पहला मामला है। इसके साथ ही अब प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 68 हो गई है।

 

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार रविवार को चार सरकारी और एक निजी पैथोलॉजी लैब से 331 सैंपलों की रिपोर्ट आई है। जिसमें 330 सैंपल निगेटिव मिले हैं। उत्तरकाशी के सीएमओ डॉ. डीपी जोशी ने बताया कि यह युवक तीन अन्य युवकों के साथ सात मई को गुजरात से उत्तराखंड आया था। एहतियातन युवक की जांच कराई गई थी जिसकी रिपोर्ट आज पॉजिटिव आई है। ग्रीन जोन में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने से अब प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है।

विभागीय अधिकारी युवकों के बारे में पता करने में जुटे हैं। शनिवार को भी ऊधमसिंहनगर में कोरोना के चार नए मामले सामने आए थे। ये चारों संक्रमित युवक भी बाहरी राज्यों से आए थे। वहीं, अभी तक प्रदेश में 46 मरीज ठीक हो चुके हैं। 22 संक्रमित मरीज ही इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती है।

रायवाला के प्रतितनगर में 20 साल के एक युवक  को अचानक तेज बुखार आने से हड़कंप मच गया। यह युवक आठ मई की रात को गुड़गांव से सरकारी बस से घर आया था। युवक को कल रात से तेज बुखार है। घरवालों ने इसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दी।

विभाग की मेडिकल टीम ने युवक को वहां से अस्पताल में भर्ती कराया। इसके साथ थी अब टीम युवक की ट्रैवल हिस्ट्री भी पता करने में जुटी है। उत्तराखंड में मैदान के बाद अब पहाड़ में कोरोना संक्रमण ने दस्तक दे दी है। बाहरी राज्यों से उत्तराखंड लौट रहे प्रवासियों से पहाड़ों में कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है।

पहली बार उत्तरकाशी जनपद में कोरोना संक्रमित मामला मिला है। पर्वतीय जनपदों में सैंपलों की जांच बढ़ती है तो संक्रमण के मामले बढ़ सकते हैं। उत्तराखंड लौट रहे प्रवासियों से प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने लगे हैं। चार मई के बाद ऊधमसिंहनगर और उत्तरकाशी जनपद में मिले कोरोना संक्रमित मरीज हाल ही में दूसरे राज्यों से वापस आए थे। यदि सरकार और स्वास्थ्य विभाग ने प्रवासियों की जांच में ढील बरती तो कोरोना संक्रमण बढ़ सकता है। प्रदेश के पर्वतीय जनपदों में सैंपल जांच भी अभी तक नाम मात्र की है।

कई पर्वतीय जिलों में अब तक सौ सैंपलों की जांच भी नहीं हुई है। मैदानी जनपद देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल, ऊधमसिंह नगर में ही सबसे ज्यादा सैंपलों की जांच हुई है। जिससे संक्रमण के मामले भी इन्हीं जनपदों में ज्यादा मिले हैं। अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत का कहना है कि बाहरी राज्यों से लौट रहे प्रवासियों में कोरोना का संक्रमण मिल रहा है। इसके लिए प्रदेश की सीमाओं पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है। मेडिकल जांच के बाद जिन लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई दे रहे हैं। उन्हें क्वारंटीन करने के साथ ही उनका सैंपल जांच के लिए भेजा जा रहा हैं।