महाराज के खिलाफ हो गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्जः यूकेडी

नवल टाइम्सः  लाकडाउन का उल्लंघन करने पर जब आम आदमी पर हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया जा सकता है तो वहीं रसूखदारों पर यह मुकदमा दर्ज क्यों नहीं किया जा रहा है।
इस सवाल को लेकर आज यूकेडी कार्यकर्ता महानगर अध्यक्ष सुनील ध्यानी के नेतृत्व में पुलिस मुख्यालय पहुंचे और उन्होने पुलिस महानिदेशक कों ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के माध्यम से यूकेडी ने कहा है कि काबीना मंत्री सतपाल महाराज उनका परिवार व स्टाफ कोरोना की चपेट में आ चुका है।


उन्होने कहा है कि सतपाल महाराज द्वारा अपनी टै्रवलिंग हिस्ट्री को छिपाया गया। वह 16 मई को दिल्ली गये थे तथा 20 मई को वापस लौटे, जिसके बाद वह विभागीय बैठक भी करते रहे। जबकि 26 मई को प्रशासन द्वारा उनके निवास पर होम क्वारंटीन का नोटिस चस्पा कर दिया गया था इसके बावजूद उन्होने 28 मई को कैबिनेट बैठक में भाग लिया। जिसके चलते पूरा मंत्रिमण्डल से लेकर अधिकारियों को होम क्वारंटीन होना पड़ रहा है।


यूकेडी ने मांग की है कि सतपाल महाराज के खिलाफ टै्रवलिंग हिस्ट्री छिपाने व कोरोना के नियमों का उल्लंघन करने के लिए उन पर हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया जाये।