महिला पुलिसकर्मी द्वारा गुजरात में विधायक के बेटे को रोकने का मामलाः क्या ड्यूटी निभाना गलत है
 

गुजरात में विधायक के बेटे और उसके दोस्तों को रोकने वाली महिला पुलिसकर्मी का तबादला गुजरात में एक महिला कॉन्स्टेबल को विधायक के बेटे और उसके दोस्तों की गाड़ी रोकने के लिए ट्रांसफर कर दिया गया है. बता दें कि विधायक के बेटे और उसके दोस्त कर्फ्यू के समय गाड़ी चला रहे थे जिसके चलते महिला पुलिसकर्मी ने उन्हें रोका था


गुजरात में एक महिला कॉन्स्टेबल को विधायक के बेटे और उसके दोस्तों की गाड़ी रोकने के लिए ट्रांसफर कर दिया गया है. बता दें कि विधायक के बेटे और उसके दोस्त कर्फ्यू के समय गाड़ी चला रहे थे जिसके चलते महिला पुलिसकर्मी ने उन्हें रोका था. अब इस मामले ने तूल पकड़ लिया है और कहा जा रहा है कि राजनीतिक दबाव में महिला पुलिसकर्मी का तबादला किया गया है. मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं. प्रकाश कनानी विधायक और मंत्री कुमार कनानी के बेटे हैं और उनकी महिला पुलिसकर्मी से बहस हो गई थी. महिला पुलिसकर्मी का कहना है कि विधायक के बेटे और उनके दोस्त कर्फ्यू समय में बिना मास्क के घूम रहे थे.


मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक महिला पुलिसकर्मी सुनीता यादव ने विधायक के बेटे और उनके दोस्तों को लॉकडाउन के नियम तोड़ने के लिए रोका था. सोशल मीडिया पर विधायक के बेटे के पुलिसकर्मी को धमकाने का वीडियो वायरल हो रहा है. बाद में महिला पुलिसकर्मी को पुलिस मुख्यालय में ट्रांस्फर कर दिया गया है.


रविवार को प्रकाश कनानी और उनके दोस्तों को गिरफ्तार कर लिया गया. बाद में वे बेल पर रिहा हो गए. सूरत के पुलिस कमिश्नर ने मामले में जांच के आदेश दिए थे. मामले के बाद सुनीता यादव ने छुट्टी ली है. उनकी अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.