हरिद्वार में तैनात हुए अत्याधुनिक इंटरसेप्टर,ओवर स्पीड और शराबियों पर लगेगी लगाम

हरिद्वार: पुलिस मुख्यालय उत्तराखंड से जनपद हरिद्वार हेतु आवंटित इंटरसेप्टर वाहन को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार सेंथिल अवूदई कृष्ण राज एस महोदय द्वारा पुलिस लाईन हरिद्वार परिसर से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।


हरिद्वार जनपद में होने वाली दुर्घटनाओं का एक मुख्य कारण निर्धारित गति सीमा से अधिक की स्पीड से वाहन का संचालन किया जाना होता है, जिस कारण दुर्घटनाएं होती हैं, तथा लोग समय से पहले काल के गाल में समा जाते हैं।
ओवर स्पीडिंग के कारण होने वाली दुर्घटनाओं की रोकथाम हेतु जनपद हेतु आवंटित इंटरसेप्टर अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।


रात्रि हो चाहे दिन का समय अत्यधिक तेजी से वाहन चलाने वालों पर भी इंटरसेप्टर के माध्यम से लगाम लग सकेगी। आधुनिक तकनीकों से लैस इस वाहन में की कई खूबियां मौजूद हैं, जैसे कि आधुनिक लेजर तकनीक पर आधारित कैमरा, लेजर स्पीड रडार गन, स्वतः ही नंबर प्लेट पहचानने की क्षमता, सिस्टम, रूफ टॉप कैमरा, डैश बोर्ड कैमरा, रियर व्यू कैमरा, मैसेज एलईडी डिस्पले एवं प्रिन्टर लगे हुए हैं। इस वाहन पर लगे सहवर्ती उपकरण निम्नानुसार सहायक सिद्ध होंगे। लेजर स्पीडगन, यह सड़क से गुजरने वाले हाई स्पीड वाहनों को कैमरों के माध्यम से परख लेगा एवं दूर तक का फोटो भी क्लिक कर सेव कर लेगा।
स्पीडोमीटर यह सामने से आने जाने वाले वाहन की तीव्र गति को चैक करेगा। जिससे वाहन का फोटो, रजिस्टेशन नम्बर तथा वाहन का प्रकार सभी की एक साथ फोटो खींच लेगा तथा घटित घटना क्रम की तिथि व समय का भी अंकन कर लेगा।
ब्रीथ रुएनालाईजर यदि किसी व्यक्ति द्वारा शराब पीकर वाहन का संचालन किया जा रहा हो तदनुसार संबंधित वाहन का विवरण संकलित कर लेगा। रूफ टाँप कैमरा यह वाहन के छत पर लगा घुमावदार अर्थात घूमने वाला कैमरा है, जो कि प्रत्येक साइड सड़क पर नजर बनाए रखेगा तथा सड़क पर होने वाली गतिविधियों को इन्टरसेप्टर वाहन में लगे मानिटर में प्रदर्शित करेगा।
इस वाहन के जनपद में उपयोग में लाए जाने के फलस्वरूप यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध कार्यवाही किए जाने हेतु जनपद हरिद्वार पुलिस को काफी सहायता मिलेगी तथा इसके दूरगामी परिणाम होने वाली दुर्घटनाओं की कमी के रूप में सामने आएंगे। जनपद हरिद्वार पुलिस द्वारा जनपद की संभ्रांत जनता से अपील की जाती है कि, वाहनों का संचालन करते वक्त यातायात नियमों व सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन करना सुनिश्चित करें।