हरिद्वार: नाले में गिरी गौ-माता को पहुंचवाया गौशाला, कराया उपचार


नाले में गिरी गौ-माता को पहुंचवाया गौशाला, कराया उपचारहरिद्वार: आज भी कुछ लोगो में इंसानियत जिन्दा है। जिसका जीता जगता उदाहरण भेल सेक्टर-एक शिव मंदिर के पास उस समय देखने को मिला ,जब गत तीन दिनों से नाले में गिरी पड़ी गौ माता को एक वरिष्ठ महिला ने अपने पुत्र संग मिलकर उपचार करा गौशाला पहुंचवाया।


जी , हाँ गौ माता की प्राण रक्षा के निमित्त भेल शिवालिक नगर निवासी वरिष्ठ नागरिक आशा नेगी ने अपने सुपुत्र गौरव नेगी एवं समाज सेवी संदीप खन्ना के अथक प्रयासों से सेक्टर एक  शिव मूर्ति के पास बने बरसाती नाले में से लगातार तीन दिन से मरणासन्न अवस्था में पड़ी हुई गौ माता की निष्ठा से सेवा करते हुए, युद्ध स्तर पर अभियान चलाया।


जिसके अंतर्गत उन्होंने दो एन जी ओ संस्थाओं को बुलाकर गौ माता को उठवा कर गौ शाला पहुंचवाया। सौरभ व अवनीत अरोड़ा ने पशु चिकित्सक डॉ ऋचा को बुलवाकर इंजेक्शन आदि लगवाए। गाय को 6-7 लोगों की मदद से बाहर निकलवाया। कड़ी मेहनत के बाद गाय की जान बच गई जो की 3 दिन से नाले में गिरी हुई थी।


डॉ ऋचा व उनके सहायक सुनील कुमार व रामविलास ने आज अगर इनको न बचाया जाता तो ये मर जातीं। बाहर निकालने के बाद, पंडित अनुराग शर्मा (नैतिक संकल्प समिति) जो अपने निजी खर्चों पर गौशाला चलाते हैं। नगर निगम की मदद से अपनी टीम के सदस्यों पंडित राम मोहन भारद्वाज, पंडित आचार्य निकुंज बलराज के साथ अपनी गौशाला में गौ माता की देख रेख की व्यवस्था की।


एक अन्य संस्था ब्रजभूमि गीता देव वर्णाश्रम, इस्कॉन द्वारा संचालित संस्था के नवयुवकों शुभम कुमार, मयंक भट्टाचार्य, मोहित भारती, अनमोल नाथ और बलराज ढींगरा आदि के सहयोग से इस पुनीत कार्य को सम्पूर्ण किया। सौरभ ने बिना अन्न जल ग्रहण किए अपनी माता आशा नेगी व अन्य परिचितों के साथ गौ माता के प्राणों की रक्षा की।