हरिद्वारः शहर व्यापार मंडल ज्वालापुर ने सरकार से की व्यापारियों को राहत देने की मांग


आज शहर व्यापार मंडल ज्वालापुर की एक बैठक महामंत्री विक्की तनेजा के प्रतिष्ठान पर संपन्न हुई। 
अध्यक्ष विपिन गुप्ता व महामंत्री विक्की तनेजा ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी के 4.5 महीने के इस संकट काल मे सबसे अधिक विपदा व्यापारी पर आयी है,  व्यापारी वर्ग ने अपनी-अपनी दुकानें पूरे 2 महीने तक बंद रखकर गरीबों एवं असहाय वर्ग की भोजन सेवा की है, व्यापार खोलने के पश्चात भी बाजार में ग्राहक का आवागमन पूरी तरह से अभी नहीं है, बाहर की मंडियों से माल खुलकर नहीं आ पा रहा है क्योंकि फैक्ट्रियों में कर्मचारी या तो है नही और अगर है भी तो भी पूरी संख्या में न होने के कारण माल कम बन पा रहा है।


इसके अलावा हरिद्वार का व्यापार जो कि पूरी तरह बाहरी यात्री पर ही निर्भर है औऱ बाहरी यात्री न आ पाने के कारण व्यापार बिकुल चौपट है व्यापार बंद होने से पूरी पंचपुरी को आर्थिक नुकसान पहुंच रहा है, पूरी अर्थव्यवस्था एक दूसरे से जुड़ी है अगर एक बाजार में काम नहीं होगा तो दूसरे बाजार में भी इसका बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है, हम उत्तराखंड सरकार से यह मांग करते हैं कि वर्ष 2020 एवं वर्ष 2021 समस्त बिजली-पानी के बिल, सरकारी या प्राइवेट सभी स्कूलों की फीस, जीएसटी, गृह कर व  बैंक की  किश्तें 2020 एवं  2021 की पूरी तरह से माफ की जाए, जिससे व्यापारी दोबारा से अपना रोजगार जोड़कर अपने परिवार का पालन पोषण कर सके। 
व्यापारी को अपना घर भी चलना है,  दुकान पर काम करने वाले कर्मचारी को भी समय पर तनख्वाह देनी है, इस सबके बावजूद इस समय बैंक किश्तें, स्कूल फीस, गृहकर, जलमूल्य, बिजली बिल व GST का बोझ व्यापारी से झेला नहीं जा रहा है। शीघ्र ही व्यापार मंडल जिला हरिद्वार के नेतृत्व मे अपना मांग पत्र माननीय मुख्य मंत्री महोदय को सौंपा जायेगा,  व्यापारी वर्ग अब ओर अधिक आर्थिक बोझ झेलने की स्थिति मे नहीं है। 
कोरोना संकट काल मे सामाजिक दूरी का पालन करते हुए बैठक मे सिर्फ 4 पदाधिकारी बुलाये गए, बैठक मे अध्यक्ष महामंत्री के अतिरिक्त वरिष्ठ उपाध्यक्ष ओम पाहवा, ओम प्रकाश विरमानी,  संजय वर्मा, अनिल शर्मा, संदीप पाहवा व मुकेश सैनी उपस्थित रहे।