विवाहिता की मौत, ससुरालियों पर लगाया बेटी होने पर मारने का आरोप


रुड़की: डिलीवरी के बाद संदिग्ध परिस्थितियों में एक विवाहिता की उपचार के दौरान मौत हो गई। मामले की जानकारी अस्पताल प्रशासन की ओर से पुलिस व परिजनों को दी गई। जिसके बाद विवाहिता के परिजन और पुलिस मौके पर पहुंचे, लेकिन जब तक बॉडी को पुलिस द्वारा सिविल अस्पताल भिजवाया जा चुका था।


बाद में महिला के परिजनों ने हंगामा काटा और आरोपी ससुरालियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की।
जानकारी के अनुसार 5 साल पूर्व अलावलपुर गांव निवासी फूल सिंह की बेटी काजल का विवाह डूंगरपुर गांव निवासी पंकज के साथ हिन्दू रीति/रिवाज के अनुसार हुआ था। पंकज से काजल को 5 दिन पूर्व एक बेटी भी पैदा हुई थी, इस कारण ससुराल पक्ष के लोगों ने विवाहिता के साथ मारपीट की, जिसके बाद विवाहिता को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया।


इस बात को लेकर विवाहिता के परिजनों ने काफी हंगामा काटा लेकिन समाचार लिखे जाने तक उन्हें अपनी बेटी की बॉडी तक नहीं मिल पाई। साथ ही उन्होंने पुलिस प्रशासन से कार्रवाई की भी मांग की। लड़की के भाई छत्रपाल ने बताया कि 1 साल पहले ससुरालियों ने दहेज की मांग पूरी करते हुए उन्होंने अपने दामाद को एक पल्सर बाइक दी थी, जिसकी किश्तों को विवाहिता का पिता आज तक भर रहा है।


उन्होंने बताया कि लड़की पैदा होने के चलते उनकी बेटी से मारपीट की गयी, जिसके चलते उनकी बेटी ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। विवाहिता के भाई ने कहा कि समाज के ऐसे दरिंदे को खुलेआम छोड़ना पुलिस प्रशासन की बड़ी नाकामी है। उन्होंने कहा कि बेटी पैदा होने पर जो भेड़ियों की तरह बेटियों के साथ घिनौना कृत्य करते हैं, समाज ऐसे लोगों का बहिष्कार करें ताकि ऐसे लोग अन्य किसी भी बेटी के साथ इस तरह का घिनौना कृत्य ना कर सके। वही कोतवाल न जानकारी देते हुए बताया कि मामले की जांच की जा रही है