उत्तराखंड के 500 अधिवक्ताओं को मिला ‘सर्टिफिकेट ऑफ प्रैक्टिस


उत्तराखंडः उत्तराखंड बार कौंसिल के सचिव ने मंगलवार को बताया कि बार कौंसिल ऑफ इंडिया सर्टिफिकेट एंड प्लेस ऑफ प्रैक्टिस वेरिफिकेशन नियम 2015 के अनुपालन में सोमवार को प्रशासनिक समिति की बैठक में 500 अधिवक्ताओं की सत्यापन प्राप्त पत्रावलियों की जांच के बाद ‘सर्टिफिकेट ऑफ प्रैक्टिस’ देने के आदेश दिए गए।


समिति की बैठक समिति के सदस्य राकेश गुप्ता की अध्यक्षता एवं उत्तराखंड बार कौंसिल के उपाध्यक्ष राजवीर सिंह बिष्ट व सदस्य अर्जुन सिंह भंडारी की मौजूदगी में हुई। उन्होंने बताया कि इन्हें मिलाकर अब तक कुल 1895 अधिवक्ताओं को ही ‘सर्टिफिकेट ऑफ प्रैक्टिस’ दिया गया है।


इधर बताया गया है कि राज्य में कुल मिलाकर 16 हजार से अधिक पंजीकृत अधिवक्ता हैं, जबकि इनमें से 13,500 अधिवक्ताओं के प्रपत्र सत्यापन के लिए भेजे गए हैं।


सभी अधिवक्ताओं को राज्य में प्रैक्टिस करने के लिए ‘सर्टिफिकेट ऑफ प्रैक्टिस’ लेना अनिवार्य है। इस प्रकार राज्य के करीब 90 फीसद अधिवक्ताओं के पास प्रैक्टिस करने के लिए जरूरी यह सर्टिफिकेट अभी नहीं है।