फौजी की हत्या के मामले में फौजी की पत्नी व प्रेमी गिरफ्तार: जानिये पूरा मामला

फौजी की हत्या के मामले में फौजी की पत्नी व प्रेमी गिरफ्तार


देहरादून:  कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत हुई फौजी की हत्या के मामले में पुलिस ने फौजी की पत्नी व उसके प्रेमी को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक प्रेम सबंधों में आड़े आने के कारण फौजी की पत्नी व उसके प्रेमी ने फौजी की गला रेतकर व हाथ की नसें काटकर हत्या करवा दी।


पुलिस ने मृतक फौजी के भतीजे की तहरीर पर दोनों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर दोनों को कोर्ट में पेश किया। जहां से दोनों को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया। पुलिस ने मृतक के शव का पंचनामा पोस्टमार्टम करने के बाद शव सेना को सौंप दिया।
गढ़वाल राइफल में हवलदार के पद पर जम्मू कश्मीर में तैनात राकेश सिंह नेगी पुत्र साबर सिंह नेगी मूल रूप से ग्राम चरगाड पोस्ट गड़ी गांव जिला पौड़ी गढ़वाल का निवासी था। वह हरबर्टपुर पांवटा रोड पर अपने मकान में परिवार के साथ रह रहा था। हाल ही 14 अक्टूबर को हवलदार राकेश सिंह नेगी छुट्टी लेकर घर आया था।


पुलिस ने बताया कि फौजी की पत्नी रीना नेगी के एक वर्ष से विकासनगर स्थित एक जिम ट्रेनर से प्रेम सबंध हो गये। फौजी के घर आने के बाद दोनों का मिलना जुलना नहीं हो पा रहा था। यही नहीं फौजी को पत्नी पर शक भी हो गया था। जिसके चलते दोनों पति पत्नी के बीच हमेशा लड़ाई झगड़ा होता रहता थ। ऐसे में पत्नी ने पति को रास्ते से हटाने की ठान ली। जिसके लिए उसने अपने जिम ट्रेनर प्रेमी शिवम मेहरा पुत्र सुनील कुमार निवासी गीता भवन रोड वार्ड नंबर तीन कल्याणपुर विकासनगर के साथ मिलकर पति की हत्या का षडयंत्र रचा।


रीना नेगी ने सबसे पहले अपना मोबाइल फोन का सिम अपने प्रेमी को दिया। उसके बाद रीना व प्रेमी शिवम मोबाइल पर एक दूसरे को मैसेज कर हत्या की योजना बनाने में लगे रहे। ग्यारह नवंबर की रात को रीना व उसके प्रेमी ने फौजी की हत्या करने की योजना बनाई। जिसके लिए रीना ने रात को घर का मुख्य गेट व दरवाजा बंद नहीं किया। इस दौरान फौजी अपने बेड पर लेटा था। करीब दस बजे रात शिवम फौजी के घर आया और किचन में छुप गया। जिसके बाद फौजी की पत्नी रीना फौजी के पास गयी और किसी बात पर उससे झगड़ा शुरू कर दिया। वह फौजी को उकसाते हुए बरामदे की लॉबी तक बुला ले आयी। जहां किचन में पहले से मौजूद शिवम मेहरा ने पीछे से फौजी को पकड़ लिया और उसके बाद फौजी के आगे खड़ी रीना ने फौजी के गले पर चाकू से एक के बाद एक वार कर दिया। जिससे फौजी की मौके पर ही मौत हो गयी। इसके बाद दोनों ने फौजी की हत्या को आत्महत्या का रूप देने के लिए उसके हाथ की नसें काट दी। फौजी की हत्या करने के बाद दोनों ने फौजी को बाथरूम में डाल दिया। उसके बाद लॉबी व घर में जगह जगह पड़े खून के धब्बों को कंबल से मिटाया।


उसके बाद फौजी की पत्नी रीना व प्रेमी रातभर साथ रहे। सुबह पांच बजे शिवम अपने घर चला गया। दूसरे दिन गुरुवार शाम को फौजी की पत्नी ने हरबर्टपुर चौकी पर पुलिस को सूचना दी कि उसके पति ने आत्महत्या की है। जिस पर पुलिस को शक हो गया और फौजी की पत्नी से कड़ी पूछताछ करने पर पूरे षडयंत्र का भांडा फूट गया।


फौजी की पत्नी रीना ने पुलिस को बताया कि प्रेमी शिवम के साथ मिलकर दोनों ने राकेश नेगी की हत्या की। जिस पर पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर शुक्रवार को जेल भेज दिया। कोतवाल राजीव रौथाण ने बताया कि हत्या में प्रयुक्त चाकू,ब्लेड, मोबाइल फोन, स्कूटर, मृतक व हत्यारोपी रीना के खून से सने कपड़े व खून से सनी कंबल बरामद कर दिए हैं।
फौजी की पत्नी रीना ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर करीब ग्यारह बजे रात को हत्या की वारदात को अंजाम दिया। लेकिन हत्या के मामले को आत्महत्या करार देने के लिए रीना ने पुलिस को 17 घंटे बाद सूचना दी। कहा कि उसके पति ने बुधवार रात को आत्महत्या की है। यही नहीं हत्या को आत्महत्या में बदलने को रीना व प्रेमी ने फौजी के हाथ की नसें काटी थी। लेकिन 17 घंटे तक मामले को छुपाये रखने से पुलिस को रीना पर शक हो गया। जिसके बाद पुलिस ने कड़ी पूछताछ कर रीना से पूरा सच उगलवा दिया।